गाजर – आलू सब्जी भी दवाई भी

www.krishakjagat.org
Share

गाजर का जड़ वाली सब्जियों में प्रमुख स्थान है। यह स्वादिष्ट एवं पौष्टिक तत्वों से भरपूर होता है। गाजर में विटामिन ए तथा विटामिन ए को निर्मित करने वाला तत्व केरोटिन भरपूर मात्रा में पाया जाता है। इसके रंग में केरोटिन भरपुर मात्रा में पाया जाता है। और कभी-कभी मक्खन व अन्य खाद्य वस्तुओं को रंग प्रदान करने के लिये भी उपयोग किया जाता है।
गुण :-

  •  गाजर को रतौंधी की अचूक दवा के रूप में जाना जाता है क्योंकि यह विटामिन ‘ए’ का सबसे अच्छा स्रोत है।
  •  गाजर विटामिन ए की कमी को दूर करता है गाजर के नियमित सेवन से शरीर में रक्त संचार ठीक रहता है।
  •  गाजर में विटामिन ए और सी होता है। इसके अलावा इसमें प्रचुर मात्रा में मिनरल व सिलिकान होता है जिससे आपकी आंखों की रोशनी अच्छी रहती है।
  • आपको गाजर से विटामिन व मिनरल्स मिलती है इसमें एंटीऑक्सिडेंट बीटा केरोटिन, अल्फा केरोटिन, कैल्शियम विटामिन ए, बी1, बी2, सी और ई भी है। एंटीऑक्सिडेंट से स्किन में चमक आती है। द्य जिन लोगों को हड्डियों की तकलीफ होती है उन्हे डाइट में गाजर जरूर लेनी चाहिये क्योंकि गाजर बॉडी में कैल्शियम की मात्रा बढ़ाएगी।
  • गाजर से इम्यूनिटी सिस्टम मजबूत होता है तथा ब्लड प्रेसर नार्मल रहता है स्किन को सन डेमेज से बचाता है।
  • गाजर का सेवन डाइबिटिस के रोगियों के लिये भी हितकारी होता है।
  • गाजर इस हृदय रोगी के लिये लाभदायक है।
  • गाजर के सेवन से सेहत और सुंदरता बढ़ती है व शरीर को आवश्यक ऊर्जा भी प्राप्त होता है।

गाजर खाने से चमड़ी के कैंसर से बचा जा सकता है।
आलू में पोषक तत्व प्रचुर मात्रा में पाये जाते हैं। विटामिन सी का अच्छा स्त्रोत है। आधा किलो आलू से विटामिन की दैनिक जरूरत पूरी हो जाती है। आलू के 100 ग्राम आटे का कैलोरी मान 34 है, जबकि गेंहू का 3 या 4 है।
गुण :

  •  विटामिन सी तथा एसिड अधिक होने से आलू त्वचा को साफ करके सुन्दर बनाता है और चेहरे में चमक लाता है।
  •  उबले आलू को मसल कर चेहरे और शरीर पर लगाने से झुर्रियां खत्म हो जाती है और त्वचा मुलायम बनी रहती है।
  •  चेहरे के दाग धब्बे साफ करने और निखारने के लिये कच्चे आलू के जूस का पैक लगायें।
  •  जलने पर कच्चा आलू कुचल कर जले भाग पर तुरन्त लगाने से आराम मिल जाता है। 
  •  उच्च रक्तचाप के रोगी भी आलू खाएं तो रक्तचाप को सामान्य बनाने में लाभ मिला है।
  • भुना हुआ आलू पुरानी कब्ज को दूर करता है। आलू में पोटेशियम साल्ट होता है जो कि अम्लपित्त को रोकता हे।
  • गुर्दे की पथरी में केवल आलू खाते रहने पर बहुत लाभ होता है। पथरी के रोगी को केवल आलू खिलाकर और बार-बार अधिक पानी पिलाने से गुर्दे की पथरी और आसानी से निकल जाते हैं।

सावधानियां : हरे गाजर एवं आलू को कभी भी खाने में इस्तेमाल नहीं करेें क्योंकि इसमें सोलेनिन नाम टॉक्सिन की मात्रा अधिक रहती है जो सेहत के लिये हानिकारक है।

www.krishakjagat.org
Share
Share