खेती से हुई घरेलू खर्च में बचत

भोपाल। रिलायंस फाउण्डेशन द्वारा चलाये जा रहे कृषि जागरुकता कार्यक्रम से प्रेरित होकर बैरसिया विकासखंड जिला भोपाल के कृषक श्री बद्रीप्रसाद ने खेती से घरेलू खर्च में बचत कर एक उदाहरण प्रस्तुत पेश किया है। श्री बद्रीप्रसाद ने रिलायंस फाउण्डेशन के संपर्क में आने के बाद विभागीय अधिकारियों, वैज्ञानिकों व विशेषज्ञों की सलाहनुसार खेती का मॉडल अपनी 9 एकड़ जमीन में अपनाया। विशेष रूप से पूर्व संचालक कृषि एवं जैविक खेती विशेषज्ञ डॉ. जी.एस. कौशल व तत्कालीन उद्यानिकी अधिकारी डॉ. आशा उपवंशी के निर्देशानुसार दलहनी, तिलहनी, खाद्यान्न फसलें, साग-सब्जी तथा फलों की खेती की।
उन्होंने थोड़े-थोड़े क्षेत्र में सभी तरह की फसलें सीजन अनुसार लगाई। परिणामस्वरूप घर के खाद्यान्न की 90 प्रतिशत आवश्यकता की पूर्ति स्वयं के खेत से हो गई। जैविक पद्धति अपनाने के कारण ये उत्पाद परिवार के स्वास्थ्य के लिए सुरक्षित भी रहे।
उन्होंने बाजार से खाद्यान्न न खरीद कर बचत भी की और पारिवारिक पूर्ति के बाद शेष उपज को बाजार में बेचकर आमदनी भी प्राप्त की।

www.krishakjagat.org
Share