कृषि मेला खंडवा

निमाड़ के 2 जिलों के 4 विकासखंडों में केजे एजुकेशन सोसायटी की गतिविधियां बेहद लोकप्रिय हुई है। हजारों किसानों को एक ही छत के नीचे देश भर की उन्नत तकनीक दिखाई गई। खंडवा में आयोजित कृषि मेले में 25 हजार किसान शामिल हुए। केजे एजुकेशन सोसायटी एवं कृषि विभाग द्वारा खंडवा में आयोजित ऐतिहासिक तीन दिवसीय कृषि विज्ञान मेले ने किसानों को ढेरों सौगातें दी है। कृषि वैज्ञानिकों ने उनकी समस्याओं का समाधान किया तथा खेती के अचूक नुसखे बताए, समापन समारोह में प्रदेश के कृषि मंत्री डॉ रामकृष्ण कुसमरिया ने अपनी गरिमामय उपस्थिति और कल्याणकारी घोषणाओं से निमाड़वासियों को गदगदकर दिया। उन्होंने कृषि विस्तार आयोजनों आअैर विशेष रूप से कृषि विज्ञान मेलों के सफल आयोजन में संस्थाओं की भागीदारी को अनिवार्य भी बताया। कृषि वैज्ञानिकों के सजीव संवाद, किसानों की शंकाओं का त्वरित समाधान, विविध सांस्कृतिक कार्यक्रम, कृषि ज्ञाान प्रतियोगिता के साथ इस आयोजन ने निमाड़ के कृषि फलक पर इन्द्रधनुषी रंग भर दिये। कार्यक्रम में कृषक जगत द्वारा पुरस्कारों का वितरण किया गया। 

मेला एक नजर में

  • 25 हजार से अधिक आए किसान
  • 25 से अधिक वैज्ञानिकों ने सिखाई नई तकनीक
  • 110 स्टॉलों पर किसानों ने ली जानकारियां
  • 200 किसानों को मिले पुरस्कार
  • 75 से अधिक विशिष्ट अतिथि पधारे
  • 22 हजार किसानों को मिला कृषि साहित्य
  • स्टॉल बुकिंग के लिए लगा रहा तांता
  • जीवंत प्रदर्शन से उत्साहित हुए किसान
  • सोया व्यंजनों का किसानों ने चखा स्वाद
  • किसानों की उमड़ी भीड़, स्टॉलों पर रहा हुजूम
  • मेले की कृषि मंत्री ने मुक्त कंठ से की सराहना
मेले का शुभारंभ करते हुए विधायक श्री देवेन्द्र सिंह वर्मा, जिला पंचायत अध्यक्ष श्री राजपाल सिंह तोमर, कलेक्टर श्री कवीन्द्र कियावत, विधायक श्री लोकेन्द्र सिंह तोमर एवं सचिन बोन्द्रिया संचालक कृषक जगत, मेला समन्वयक अरविन्द्र बोन्द्रिया।

निमाड़ के 2 जिलों के 4 विकासखंडों में

केजे एजुकेशन सोसायटी की गतिविधियां बेहद लोकप्रिय हुई हैं। हजारों किासनों को एक ही छत के नीचे देश भर की उन्नत तकनीक दिखाई गई। खंडवा में आयोजित कृषि मेले में 25 हजार किसान शामिल हुए। केजे एजुकेशन सोसायटी एवं कृषि विभाग द्वारा खंडवा में आयोजित ऐतिहासिक तन दिवसीय कृषि विज्ञान मेले ने किसानों को ढेरों सौगातें दी है। कृषि वैज्ञानिकों ने उनकी समस्याओं का समाधान किया |

तकनीकी संगोष्ठी के प्रमुख वक्ता

मेले में आयोजित तकनीकी सत्र में सोयाबीन अनुसंधान निदेशालय के महानिर्देशक डॉ. एस. के. श्रीवास्तव ने सोयाबीन, डॉ. विजय अग्रवाल सीआईएई- पॉलीहाऊस, डॉ. सुनील बिल्लोरे- सोयाबीन उत्पादन, डॉ. पी.पी.  शस्त्री- कपास-मिर्च, डॉ. अीर.ए शर्मा- समन्वित खेती, डॉ. डी.वी.सिंह- कृषि मशीनरी, डॉ. विजय अग्रवाल- पालीहाऊस, श्री एन.के. तांबे- निमाड़ी में नुस्खे, श्री एच.एस. सिंह- कृभकों की गतिविधयां, श्री वी.एन. सिंह- उघानिकी फसलें, श्री मुरलीधर अय्यर- ड्रिप इरीगेशन, श्री राजवीर सिंह- अंतर्राष्ट्रीय खेती, श्री अनिमेष सिंह मौर्य- मिर्च उत्पादन, श्री परमानंद पाटीदार- एग्री बिजनेस, श्री संतोष पाटीदार – अनुदान।

मंच पर बायें से दायें - सचिन बोन्द्रिया के.जे. एजुकेशन सोसाइटी, श्री कवीन्द्र कियावत कलेक्टर खण्डवा, विधायक श्री लोकेन्द्र सिंह तोमर, जिला पंचायत अध्यक्ष श्री राजपाल सिंह तोमर एवं अन्य विशिस्ट अतिथिगण |
मेले मैं कृषक जगत द्वारा लगाये गये मंडप में कृषि साहित्य का अवलोकन करते कृषि मंत्री
प्रदर्शनी के अवलोकन के दौरान कृषि मंत्री को जानकारी देते हुए जिले के कृषि उप संचालक श्री रामेश्वर पटेल
इस आयोजन में तीन दिन में 25 हजार से अधिक किसान भाइयों ने भाग लेकर उन्नत तकनीक, कृषि वैज्ञानिकों के उदबोधन, खेती से जुड़ीं अपनी समस्यओं का समाधान, नवीन कृषि यंत्रों की जानकारी प्राप्त की |
www.krishakjagat.org
Share