कीटों के लिए सोलर लाईट ट्रैप

www.krishakjagat.org
Share

भोपाल। फसलों में कीट प्रबंधन दिनों-दिन महंगा एवं दुष्कर कार्य होता जा रहा है। रसायनिक दवाओं का अधिक प्रयोग मानव स्वास्थ्य के लिए हानिकारक माना जाता तथा इसके उपयोग के लिये मानव श्रम की आवश्यकता होती है, जो कि वर्तमान लागत बढ़ाने वाला साबित होता है। ऐसी स्थिति में प्रकाश प्रपंच (लाइट ट्रैप) कीटों को नियंत्रित करने के लिए एक उपयुक्त साधन है। लेकिन परम्परागत प्रकाश प्रपंच का निर्माण एवं उपयोग एक दुरूह कार्य है।
इन्हीं व्यावहारिक समस्याओं को समझते हुए पुडूचेरी की एसएएफएस आर्गेनिक इंटरप्राइजेज ने सोलर लाईट ट्रैप का निर्माण किया है। सोलर पैनल द्वारा प्रकाशित अल्ट्रा वायलेट प्रकाश से पौधों के व्यस्क कीड़े व कीट प्रपंच में फंस कर नष्ट हो जाते हैं। स्वनियंत्रित प्रणाली से सूर्यास्त के समय लाईट ट्रैप स्वयं प्रकाशित हो जाता है और लगभग आधी रात तक स्वत: बंद हो जाता है। सौर प्रकाश पर आधारित इस उपकरण के संचालन के लिए बिजली या बैटरी की कोई आवश्यकता नहीं होती है। इस उपकरण के निरन्तर उपयोग से वयस्क कीट को नियंत्रित कर उनकी संख्या कम करते हुए उनके वंश को भी नष्ट किया जा सकता है। उडऩे वाले कीड़े, पत्ती एवं तना छेदक कीट, फल छेदक कीट, सफेद मक्खी, हॉपर, एफिड्स, फसल भृंग कीट आदि इससे नियंत्रित किये जा सकते हैं। सोलर लाइट ट्रैप अब प्रदेश के किसानों के लिए भी उपलब्ध है। अधिक जानकारी के लिए मॉडर्न इंटरप्राइजेज भोपाल से मो. : 7748076644 पर सम्पर्क किया जा सकता है।

www.krishakjagat.org
Share
Share