किसानों तक पहुँच बनायें और कृषि उत्पादन बढ़ायें : श्री बिसेन

www.krishakjagat.org
Share

कृषि स्नातक संघ का पहला राष्ट्रीय अधिवेशन
भोपाल। किसान-कल्याण एवं कृषि विकास मंत्री श्री गौरीशंकर बिसेन ने कृषि अधिकारियों से कृषि उत्पादन बढ़ाने में योगदान देने का आव्हान किया है। उन्होंने कहा कि वर्ष 2025 में अनुमानित खाद्यान्न उत्पादन का लक्ष्य पूरा हो, इस दिशा में आज से ही प्रयास करना जरूरी है। श्री बिसेन गत दिनों कृषि स्नातक संघ के पहले राष्ट्रीय अधिवेशन को संबोधित कर रहे थे।
श्री बिसेन ने कहा कि खेती राष्ट्र के विकास की धुरी है। उन्होंने कहा कि इसके लिये जरूरी है कि हम नयी तकनीक के साथ किसानों को आय के वैकल्पिक स्रोत उपलब्ध करवायें। उन्होंने कहा कि जलवायु परिवर्तन एक बड़ी चुनौती हमारे सामने है। उन्होंने कहा कि आवश्यकता इस बात की है कि हम परिवर्तित हो रहे मौसम के अनुरूप खेती-किसानी की ऐसी तकनीक विकसित करें, जिससे किसानों को सफर न करना पड़े। उन्होंने कृषि अधिकारियों से किसानों तक पहुँच बढ़ाने का आग्रह किया। उन्होंने कहा कि हमारा सम्पर्क और संवाद निरंतर किसानों से होना चाहिये, ताकि वे सही दिशा में आगे बढ़ सकें।
कृषि मंत्री ने बताया कि खेती-किसानी को लाभ का व्यवसाय बनाने के साथ ही कृषि विभाग सुदृढ़ और ऊर्जावान हो, उसे योग्यतानुसार मेन पॉवर मिले, इसके लिये गंजबासौदा, बालाघाट के बाद होशंगाबाद जिले के पवारखेड़ा में भी कृषि महाविद्यालय खोला जा रहा है। डिप्लोमा कोर्स भी शुरू किया गया है। प्रदेश में स्थापित किये जा रहे कस्टम हॉयरिंग सेंटर में नियुक्ति में कृषि स्नातकों को प्राथमिकता दी गयी है। उन्होंने कहा कि हमारे सामने कई चुनौतियाँ हैं, लेकिन उसका समाधान भी हमारे ही पास है। उन्होंने प्रदेश में कृषि को उन्नत बनाने के साथ किसानों को समृद्ध बनाने के प्रयास में सक्रिय भागीदारी करने को कहा। कार्यक्रम की अध्यक्षता नगरीय विकास एवं पर्यावरण विभाग के उप सचिव श्री ओ.पी. श्रीवास्तव ने की। नेहरू युवा केन्द्र के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष श्री वी.डी. शर्मा, विधायक श्री लाखन सिंह यादव, संघ के अध्यक्ष श्री अजय कौशल, संचालक किसान-कल्याण एवं कृषि विकास श्री मोहन लाल मीणा, जवाहरलाल नेहरू कृषि विश्वविद्यालय के डायरेक्टर श्री पी.के. बिसेन और कृषि वैज्ञानिक श्री देवेन्द्र शर्मा ने भी संबोधित किया।

www.krishakjagat.org
Share
Share