किसानों की समृद्धि ही मुख्य उद्देश्य : श्री शिवराज सिंह

www.krishakjagat.org

भोपाल। मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि कृषक उत्पादन कंपनियों के भविष्य को बेहतर बनाया जायेगा। इसके लिये 29 मई को उज्जैन में कंपनियों का सम्मेलन होगा। वे समन्वय भवन में कंपनियों के किसान सदस्यों से संवाद कर रहे थे। यह अपने तरह का पहला संवाद था। इसका आयोजन लघु कृषक कृषि व्यापार संघ, कृषि मंत्रालय भारत सरकार, कृषि कल्याण विभाग मध्यप्रदेश और मध्य भारत कन्सोर्टियम ऑफ़ फार्मर प्रोड्यूसर्स कंपनी द्वारा किया गया था।
श्री चौहान ने इस अवसर पर अच्छा काम करते हुए छोटे किसानों को फायदा देने वाली कंपनियों को सम्मानित किया। कृषक उत्पादन कंपनियों की प्रशंसा करते हुए उन्होंने कहा कि किसानों की सुख-समृद्धि ही प्रमुख उद्देश्य है। उन्होंने कहा कि छोटी-छोटी किसान कंपनियाँ कमाल कर रहीं हैं। श्री चौहान ने कहा कि सिंचाई, बीज उत्पादन और ब्याज रहित कर्ज देने जैसे प्रयासों से प्रदेश की कृषि विकास दर आज देश में सबसे ज्यादा हो गई है। उन्होंने कहा कि कृषक उत्पादन कंपनियों ने किसानों को अच्छा बीज उपलब्ध करवाने में आदर्श काम किया है। इन कंपनियों को देश की बड़ी कंपनियाँ बनाया जा सकता हैं। आज पूरी दुनिया में मध्यप्रदेश के गेहूँ की ब्रांडिंग हो गयी है, इसका लाभ उठाना चाहिये। कार्यक्रम में समर्थ कृषक उत्पादन कंपनी – आगर मालवा, निमाड़ फार्मर्स प्रोड्यूसर्स कंपनी-ओझर, बड़वानी , हरदौल कृषि विपणन और उत्पादन कंपनी शिवपुरी, गुना की कृषक उत्पादन समिति एवं मध्य भारत कृषक उत्पादन कंपनी ने अपनी अपनी प्रस्तुति दी। इस अवसर पर अपर मुख्य सचिव एवं कृषि उत्पादन आयुक्त श्री आर.के. स्वाई, प्रमुख सचिव कृषि डॉ. राजेश राजौरा, प्रबंध संचालक मंडी बोर्ड श्री अरूण पाण्डे और बड़ी संख्या में किसान सदस्य उपस्थित थे।

FacebooktwitterFacebooktwitter
www.krishakjagat.org
Share