कपास की गुलाबी इल्ली के लिये सिन्जेटा का एम्पलिगो

www.krishakjagat.org

इन्दौर। कपास में लगने वाली गुलाबी इल्ली के लिये सिन्जेण्टा ने एम्पलिगो प्रस्तुत किया है। कम्पनी के श्री मुकेश शुक्ला ने बताया कि भारत सरकार के केन्द्रीय इन्सेक्टीसाइड बोर्ड ने एम्पलिगो को कपास के भीतर बालवर्म के नियंत्रण के लिये अनुशंसा की है। कपास में फूल आने की अवस्था में 100 मि.ली. प्रति एकड़ पहला छिड़काव और 15-20 दिनों बाद दूसरा छिड़काव करना चाहिए। इससे गुलाबी इल्ली पर नियंत्रण के साथ-साथ उत्पादन भी गुणवत्तापूर्ण मिलता है।

उन्होंने कहा कि सही समय पर इसका छिड़काव गुलाबी इल्ली पर नियंत्रण का महत्वपूर्ण बिन्दु है।

FacebooktwitterFacebooktwitter
www.krishakjagat.org
Share