कड़कनाथ प्रजाति के लगभग 200 चूजे और 100 कड़कनाथ पक्षी वितरित

www.krishakjagat.org
Share

बुरहानपुर। के.वी.के. एवं आत्मा कन्वर्जनस के अन्तर्गत कृषि विज्ञान केन्द्र सांडस कला में कृषक वैज्ञानिक परिचर्चा का आयोजन किया गया। इस दौरान नेपानगर व ग्राम उमरदा, पूरा, सांडस, सारोला, देड़तलाई से लगभग 150 किसानों व कृषक महिलाओं ने हिस्सा लिया। इस अवसर पर कलेक्टर श्रीमती जे.पी.आईरीन सिंथिया, मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री बसंत कुर्रे, के.वी.के. अध्यक्ष श्री हमीद काजी, एवं निर्देशक श्री नूर काजी, डॉ.एम.के.शर्मा, परियोजना अधिकारी विजय पचौरी, ऐ.के.वर्मा, वैज्ञानिक भूपेन्द्र सिंह, मोनिका जायसवाल, मेघा विभूते, राहुल सतारकर, संदीप राठौर, विशाल पाटीदार, जितेन्द पटेल, वीरेन्द्र साहू उपस्थित रहे। कार्यक्रम में कलेक्टर ने कहा कि कड़कनाथ पालन को जिले में बढ़ावा देने की जरूरत है। इस अवसर पर उन्होनें चार स्वयं सहायता समूह की महिलाओं को 40 चूजे, 7 मुर्गिया और 1 मुर्गा प्रति समूह को प्रदान किया। साथ ही एक समूह को सोलर हेचरी यूनिट भी प्रदत्त किया गया। श्री कुर्रे ने हर समुह को दस-दस हजार रूपये बतौर रिवलविंग फण्ड के रूप में प्रदत्त किये। कार्यक्रम में के.वी.के. के वरिष्ठ वैज्ञानिक डॉं. अजीत सिंह ने के.वी.के. आत्मा द्वारा जिले में किये जा रहे है कार्यो पर विस्तार से प्रकाश डाला। उन्होनें बताया कि जिले में कड़कनाथ प्रजाति को बढ़ावा देने के लिये पिछले दो वर्षो से अलग-अलग गांवों में किये गये कार्यो एवं वर्तमान में इसकी उपलब्धियों के बारे में पावर पाइंट प्रजेन्टेशन के माध्यम से जानकारी दी।

www.krishakjagat.org
Share
Share