एग्री एशिया में म.प्र. की भागीदारी

www.krishakjagat.org
Share

भोपाल। गुजरात की राजधानी गांधीनगर के विशाल प्रदर्शनी केन्द्र महात्मा मंदिर में तीन दिवसीय आयोजित कृषि मेले में कृषकों को आधुनिक तकनीकों का ज्ञान मिला। मेले में उन्नत आधुनिक कृषि यंत्र जिनमें ट्रैक्टर, हार्वेस्टर, थ्रेसर, ग्रीन हाऊस शेड नेट, मल्चिंग प्रणाली, कृषि दवाईयां, उर्वरक एवं अन्य कृषि, पशुपालन, उद्यान से जुड़े कंपनियों ने स्टॉल लगाकर अपने उत्पादों का प्रदर्शन किया। मेले का उद्घाटन प्रदेश की मुख्यमंत्री श्रीमती आनंदी बेन पटेल ने किया था। इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने स्टॉलों का भ्रमण कर जानकारी ली। एग्री एशिया मेला प्रति वर्ष गांधी नगर में आयोजित होता है। जिसमें गुजरात के अलावा म.प्र. एवं राजस्थान के कृषकों की भागीदारी रहती है। आयोजक ने इस वर्ष कंपनियों के मुख्य कार्यपालन अधिकारी एवं गुजरात सरकार के वरिष्ठ अधिकारियों की बैठक भी आयोजित की जिसमें कंपनी के अधिकारियों ने सरकार से अपनी समस्या बताई जिसका अधिकारियों ने हल करने के सुझाव दिये। म.प्र. किसान कल्याण तथा कृषि विकास विभाग ने भी मेले में स्टॉल लगाया यहां प्रदेश में संचालित योजनाओं से कृषकों को परिचय कराया। म.प्र. के मुरैना से आये जैविक उत्पाद एवं मधुमक्खी निर्मित शहद भी स्टॉल पर आकर्षक का केन्द्र रहे। म.प्र. के परियोजना संचालक आत्मा श्री नगिन सिंह रावत धार,श्री आनंद सिंह सोलंकी खंडवा, श्री आर.एस. गुप्ता रतलाम एवं श्री डी.एस. मौर्य अलीराजपुर ने मेले से जानकारी एकत्र की।
संचालनालय कृषि से आये श्री डी.एल. पेनडालकर, श्री गौतम सहायक संचालक, श्री जे.एल. लाम, श्रीमती अर्चना त्यागी, श्रीमती सीमा सिंह एस.ए.डी.ओ. एवं मुरैना कृषि विभाग के श्री आर.सी. उपाध्याय, एडीए, श्री नरेश इंदौरिया, श्री राकेश सिंह गुर्जर आत्मा ने म.प्र. के स्टॉल से म.प्र. में विभाग की गतिविधियों से अवगत कराया। कृषि मेले में कृषक जगत ने स्टॉल लगाकर सभी प्रकाशनों की जानकारी दी कृषक जगत के डायरेक्टर श्री सचिन बोन्द्रिया, विशेष प्रतिनिधि प्रकाश दुबे एवं राम स्वरूप लौवंशी भी उपस्थित थे।

www.krishakjagat.org
Share
Share