उन्नत तकनीक देखने दाहोद पहुंचे किसान

www.krishakjagat.org

इंदौर। कृषि तकनीकी प्रबंध संस्था किसान कल्याण तथा कृषि विकास, जिला इंदौर (आत्मा) के नेतृत्व में जिले के 15 किसानों के दल ने दाहोद के सद्गुरु वाटर एंड डेवलपमेंट फाउंडेशन पहुंचकर खेती के गुर सीखे।
परियोजना संचालक आत्मा सुश्री शर्ली जे. थॉमस ने कृषक जगत को बताया कि चार दिवसीय भ्रमण कार्यक्रम के दौरान फाउंडेशन के श्री अश्विन पटेल ने लिफ्ट इरिगेशन, चेक डेम, भू-सुधार एवं मेड़ों पर बोवनी की नई जानकारियां दीं। पटेल ने कहा कि किसान आम की लंगड़ा, राजापुरी, केसर किस्मों को लगाएं, क्योंकि इनमें प्रतिवर्ष फलन होता है। डॉ. राकेश चंद्र ने प्याज के बीज तैयार करने एवं औषधीय महत्व की जानकारी दी। संयुक्त संचालक उद्यानिकी श्री बलदेवसिंह परमार ने टिश्यू कल्चर, नेट हाउस, ग्रीन हाउस, जैविक खेती तथा नर्सरी बनाने की विधियां बताईं। कृषकों ने ग्राम रोजन, ग्राम नीना मामा खाकरिया, मोटा दरोगा, गवालिया, सेहरा, बीजलपुर गोधरा स्थित किसानों के खेतों पर जाकर फाउंडेशन द्वारा कराई जा रही परवल एवं स्ट्रेचिंग पर सब्जियों की खेती, अदरक, हल्दी, गुलाब आदि के उत्पादन की तकनीकों को परखा। सद्गुरु फाउंडेशन की निदेशक श्रीमती सविष्ठा जगावत ने परम्परागत खेती छोड़ विविध खेती अपनाने की सलाह दी।

FacebooktwitterFacebooktwitter
www.krishakjagat.org
Share