उड़द पड़ी सोयाबीन पर भारी

www.krishakjagat.org

भोपाल। खरीफ फसलों में सर्वोच्च सोयाबीन पर कृषकों का कम रुझान हो गया है। सीजन में सोयाबीन उड़द, मक्का, मूंग, धान फसलों के उत्पादन में उड़द की भरपूर आवक मण्डी में देखी गई। पिछले वर्ष खरीफ में उड़द 1.94 क्विं. की आवक हुई थी। इस वर्ष अभी तक 550 क्विं. उड़द का विक्रय हो चुका है। भोपाल मण्डी सचिव श्री योगेश नागले ने बताया कि सोयाबीन का अधिकतम मूल्य रु. 2950 प्रति क्विं. रहा, जबकि उड़द का भाव न्यूनतम में रु. 4000 से उच्च में 5800 रु. प्रति क्विं. रहा है।
श्री नागले ने बताया कि प्रथम चरण में भोपाल की करोंद मंडी को ई मण्डी से जोड़ा गया था तब जिन्स के रूप में चना फसल को अधिसूचित किया था। ई मण्डी के माध्यम से अभी 1500 कृषकों का पंजीयन कर लगभग 15000 क्विं. चना ई बाजार के माध्यम से विक्रय किया गया जिससे लगभग 7 करोड़ रुपये का व्यापार हुआ। एक किसान का पंजीयन एक ही बार किया जाता है। पंजीयन के समय एक कोड दिया जाता है। ई मण्डी में 30 व्यापारियों का पंजीयन है। अभी अधिसूचित जिन्सों में मसूर, मूंग, सरसों, उड़द को शामिल किया गया है।

FacebooktwitterFacebooktwitter
www.krishakjagat.org
Share