आलू की खुदाई करने पर आलुओं के ऊपर भूरे काले मिट्टी समान धब्बे हैं जिससे कीमत कम मिल रही है, क्या कारण है? – गंगाराम पाटीदार, बारां (राज.)

ऐसा मालूम होता है कि आपकी फसल ब्लेक स्कर्फ से ग्रसित रही होगी। यह रोग राइजोक्टोनिया सोलेनी नामक फफूंद के कारण होता है जो भूमि जनित रहता है। अत: यह रोग मिट्टी तथा ग्रसित बीज बोने से फैलता है।
– इसके कारण अंकुरित कंदों का आगे का भाग पहले प्रभावित होता है इसमें गहरे भूरे धब्बे पड़ते हैं और कभी-कभी उगने के पूर्व ही वह नष्ट हो जाते हैं।
– तनों में धंसे हुए भूरे रंग के केंकर तथा आलुओं की त्वचा में यह फफूंदी धसी मिलती है मानों उसमें मिट्टी चिपकी हो। धोने पर यह नहीं निकलती। जिन खेतों में आप लगातार कई वर्षों से आलू ले रहे हों उनमें आलू न लें और बीज भी बदल लें। बोने के पूर्व आलू के बीज को 3 प्रतिशत बोरिक एसिड (30 ग्राम प्रति लीटर पानी) के घोल में 30 मिनट उपचारित करने के बाद ही बोयें।

www.krishakjagat.org
Share