अत्यंत उपजाऊ एवं उपयोगी है फूलों की खाद

देवास। मां चामुंडा टेकरी पर धूनी मार्ग पर बनाए गए चार चक्रीय वर्मी कम्पोस्ट यूनिट से तैयार की जा रही फूलों की खाद अत्यंत उपजाऊ एवं उपयोगी है। इस यूनिट के चालू किए जाने के पश्चात प्रथम तीन माह में लगभग 100 क्विंटल फूलों की खाद बनकर तैयार है। खाद का मूल्य 15 रु. किलो है, अभी तक लगभग 1.50 लाख रुपए की खाद तैयार की जा चुकी है।
मप्र जन अभियान परिषद की ग्राम विकास प्रस्फुटन समिति हतनोई द्वारा इस चार चक्रीय वर्मी कम्पोस्ट यूनिट को चलाया जा रहा है। समिति के श्री शैलेंद्र पाटीदार बताते हैं कि प्रतिदिन इस यूनिट में लगभग 50 किलो फूल, जो कि माताओं के मंदिर से निकलते हैं, इस्तेमाल किए जाते हैं। इन्हीं के साथ इसमें गोबर खाद मिलाई जाती है।
केंचुए बनाते हैं खाद एवं वॉश : वर्मी कम्पोस्ट यूनिट में केंचुए डाले गए हैं, जो कि खाद तैयार करते है। यह खाद अत्यंत भुरभुरा तथा उपजाऊ होता है। केंचुए जो मूत्र विसर्जित करते हैं, उससे वर्मी वॉश तैयार होता है, जो पेड़-पौधों के लिए अत्यंत उपयोगी होता है। वर्मी कम्पोस्ट यूनिट में अब तक लगभग 200 लीटर वर्मी वॉश तैयार किया जा चुका है।

www.krishakjagat.org
Share