सिंडिकेट बैंक का 93वां स्थापना दिवस

रक्तदान शिविर भी आयोजित

भोपाल। सन् 1925 में कर्नाटक के उडपी में मात्र 8000/- रु. से की गई एक छोटी सी अल्प बचत शुरुआत ने 93 वर्ष बाद एक विशाल वृक्ष के समान सिंडिकेट बैंक की देश में 4015 शाखाओं के रूप में उभरी है। यह बात बैंक के क्षेत्रीय प्रबंधक श्री कुलविंदर सिंह ने भोपाल में आयोजित बैंक के 93वां स्थापना दिवस पर आयोजित कार्यक्रम में कही।

बैंक ग्राहकों का विश्वास एवं उनके लेन-देन ने सिंडिकेट बैंक को देश की अन्य राष्ट्रीयकृत बैंकों में सातवें स्थान पर खड़ा किया है।

स्थापना दिवस के मुख्य अतिथि श्री आशीष राजौरिया ने बैंक की सुविधाओं से अपने व्यवसाय को शिखर तक पहुंचाने की रोचक कहानी बताई। उन्होंने बैंक के मधुर व्यवहार एवं त्वरित कार्यप्रणाली की प्रशंसा की। इस अवसर पर बैंक की अन्य शाखाओं से एक-एक ग्राहकों को सम्मानित भी किया गया। 

क्षेत्रीय कार्यालय के प्रबंधकों ने अपने-अपने विभाग की योजनाओं से अवगत कराया। साथ ही भोपाल के पूर्व हॉकी ओलंपिक खिलाड़ी यूसुफ एवं श्री सलीम अब्बासी का सम्मान किया। कार्यक्रम का बैंक के उप क्षेत्रीय प्रबंधक श्री भागचंद महावर ने आभार व्यक्त किया। स्थापना दिवस के अवसर पर बैंक ने बंसल अस्पताल में रक्तदान शिविर का भी आयोजन किया इसमें 40 व्यक्तियों ने रक्तदान किया। विपणन विभाग के श्री वरुण श्रीवास्तव एवं श्री मयंक निगम ने स्थापना दिवस आयोजन में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई।

Share On :

Follow us on

Subscribe Here

For More Articles

Releated Articles